Author Topic: एक टुकड़ा तालाब  (Read 66 times)

0 Members and 1 Guest are viewing this topic.

Sagar

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 326
  • Gender: Male
  • Be melting snow~ Rumi
एक टुकड़ा तालाब
« on: March 30, 2015, 03:23:21 AM »
एक टुकड़ा तालाब वक़्त के बहते दरिया से चुरा लाया था कभी
एक लड़कपन की गेंद इस तालाब में जाने कबसे तैर रही है
डूबती है उभरती है, आँखों के सामने रहती है
मोमिन न मैं फ़िराक न ग़ालिब न मीर हूँ
इक आग का गोला हूँ मैं अर्जुन का तीर हूँ

Aarti

  • Administrator
  • *****
  • Posts: 80
  • Gender: Female
Re: एक टुकड़ा तालाब
« Reply #1 on: April 08, 2015, 05:17:16 AM »
एक टुकड़ा तालाब वक़्त के बहते दरिया से चुरा लाया था कभी
एक लड़कपन की गेंद इस तालाब में जाने कबसे तैर रही है
डूबती है उभरती है, आँखों के सामने रहती है

beautiful .........

Kavita Negi

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 134
Re: एक टुकड़ा तालाब
« Reply #2 on: April 28, 2015, 04:01:20 AM »
Wah.... Simple Sweet Meaning full....

Musaahib

  • Hindvi
  • *
  • Posts: 54
Re: एक टुकड़ा तालाब
« Reply #3 on: May 07, 2015, 05:46:28 AM »
Yes Sure simple sweet and meaningfull