Author Topic: Guftgoo Renu Nayar ji se  (Read 674 times)

0 Members and 1 Guest are viewing this topic.

Rashmi

  • Global Moderator
  • ***
  • Posts: 1893
  • Gender: Female
  • Hum se khafa zamaana to Hum bhi jamaane se khafa
Guftgoo Renu Nayar ji se
« on: November 18, 2014, 12:23:40 PM »
उठाओ वक़्त को, उस ताक़ पे रख दो, जहां से वो
न कह पाये, न सुन पाये, न कोई चाल चल पाये
Uthao Waqt ko, us taak pe rakh do, jahaN se wo
na keh paye, na sun paye, na koi chaal chal paye
-Renu

Dosto !  Ek aisi shakshiyat jo waqt ko taak pe rakhne ka dam rakhti haiN
aaj guftgoo ke is suhaane safar pe hamaare saath haiN ....aaiye  ...swaaloN jwaaboN ki is adalat meiN.. swagat karte haiN  Renu Nayar ji ka
 

Renu Nayar    Renu Nayar   Renu Nayar   Renu Nayar   Renu Nayar

Note ...

Interview ek maah tak chalega
Plz adab mei rah kar sawaal ya baat kareN
Renu  Ji..Koe b sawaal ignore ya delete karwa sakti haiN

Shukriya........
« Last Edit: November 18, 2014, 01:08:05 PM by Rashmi »
Rashmi Sharma

gooDe akkhar ,fatti sukki
adiyo meri gaachi mukki
sukke hanjhu akkhaN waale
haaDa! akkhar mooloN kaale

Rashmi

  • Global Moderator
  • ***
  • Posts: 1893
  • Gender: Female
  • Hum se khafa zamaana to Hum bhi jamaane se khafa
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #1 on: November 18, 2014, 01:05:47 PM »
Renu ji swagat hai aap ka ..Dua  karti hooN guftgoo ka ye safar ..aapki zindgi ka ek yaadgaar safar rahe
jaanti hooN mere saath saath or sabhi bahut bechaiN honge aapko or nazdeek se jan.ne ko
is se pahle ki dheroN swaal aap ke sahmne hoN ..maiN chahungi ki ek sankshipat sa prichya aap apne chahne waloN tak pahuncha dijiye ,, ta ke is suhane safar ko tarteeb se shuru kiya jaa sake ...meeThe pyaare swaalat  ke saath ......

aaiye .....
jaldi hi phir aapki bazam meiN pesh hote haiN ...chand swalaat ke saath...
  :)
Rashmi Sharma

gooDe akkhar ,fatti sukki
adiyo meri gaachi mukki
sukke hanjhu akkhaN waale
haaDa! akkhar mooloN kaale

Fikr

  • Newbie
  • *
  • Posts: 44
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #2 on: November 19, 2014, 03:36:03 AM »
Renu ji aapka swagat hai....
Pahle to thoda lihaaj se pesh aate hain
sawalo k te'er phir late hain....... apne Tarkash ko dhoondne jaate hain

ridham

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 206
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #3 on: November 19, 2014, 04:26:29 AM »
welcome renu ji ,,,,hum bhi tayaar kar lete  hain ek list    :)

renu nayyar

  • Newbie
  • *
  • Posts: 18
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #4 on: November 19, 2014, 12:49:14 PM »
सब से पहले 'हिंदवी' के आयोजकों का धन्यवाद जो उन्होंने मुझे और मेरी शायरी को इतना सम्मान दिया । 'गज़लसरा' में शिरक़त करने के बाद दिल्ली से आते हुए 'हिंदवी' का पूरा परिवार अपने साथ अपनी यादों में लेकर आई हूँ और मुझे उम्मीद है कि ये साथ हमेशा रहेगा ।   

परिचय में फ़िलहाल इतना ही परिवार में पति, एक बेटी और एक बेटा है । पतिदेव का अपना बिज़नेस है, बेटी एम.ए साइकोलॉजी के दूसरे वर्ष में है और बेटा 10 + 1 कामर्स कर रहा है । क़रीब 18 साल की नौकरी के बाद अब सिर्फ घर, परिवार को और अपने लिखने, पढ़ने को शौक समय देती हूँ ।

बाकी जैसे जैसे सवाल आते जायेंगे, मैं जवाब देने की कोशिश करूँगी । उम्मीद करती हूँ कि ये सिलसिला यादगार हो रहेगा । 

स्नेह !     

vsm1978

  • Newbie
  • *
  • Posts: 48
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #5 on: November 19, 2014, 01:08:26 PM »
Renu  जी आपका स्वागत है ,आपका परिचय पढ़कर और खुशी हुई की आज भी आप लिखती है और Hindvi के मंच पर नए और कुछ पुराने रचनाकारों को उत्साहित एवं लेखन के अपने बेहतरीन अनुभवों से हमें मार्गदर्शित करेंगी , मज़ा आएगा सवालो और जवाबो को पढ़कर ...स्वागत और कार्यक्रम की सफलता के लिए शुभकामनाएं . विजय शंकर मिश्रा :)

Fikr

  • Newbie
  • *
  • Posts: 44
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #6 on: November 19, 2014, 03:24:53 PM »
Apni job k bare mein batayen...
:)

Rashmi

  • Global Moderator
  • ***
  • Posts: 1893
  • Gender: Female
  • Hum se khafa zamaana to Hum bhi jamaane se khafa
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #7 on: November 19, 2014, 04:14:11 PM »
सब से पहले 'हिंदवी' के आयोजकों का धन्यवाद जो उन्होंने मुझे और मेरी शायरी को इतना सम्मान दिया । 'गज़लसरा' में शिरक़त करने के बाद दिल्ली से आते हुए 'हिंदवी' का पूरा परिवार अपने साथ अपनी यादों में लेकर आई हूँ और मुझे उम्मीद है कि ये साथ हमेशा रहेगा ।   

परिचय में फ़िलहाल इतना ही परिवार में पति, एक बेटी और एक बेटा है । पतिदेव का अपना बिज़नेस है, बेटी एम.ए साइकोलॉजी के दूसरे वर्ष में है और बेटा 10 + 1 कामर्स कर रहा है । क़रीब 18 साल की नौकरी के बाद अब सिर्फ घर, परिवार को और अपने लिखने, पढ़ने को शौक समय देती हूँ ।

बाकी जैसे जैसे सवाल आते जायेंगे, मैं जवाब देने की कोशिश करूँगी । उम्मीद करती हूँ कि ये सिलसिला यादगार हो रहेगा । 

स्नेह !   
bahut achha lag raha hai renu ji aap se baat karte hue .....aaiye ab ek chhoti si list dete haiN aap ko
1.aapki education ke baare meiN  bataaiye
2.aap likhne padne ke ilawa or kya kya shauk rakhte haiN ?
3.aap ko poetry ka shauk kab pada ?
4. aap ne likhna kis umar meiN shuru kiya?

abhi itna hi jaldi hi aapki khidmat meiN phir se pesh honge tab tak ke liye khuda hafiz,,,,,,,shaad rahiye abaad rahiye  :)[/b]
« Last Edit: November 19, 2014, 04:22:33 PM by Rashmi »
Rashmi Sharma

gooDe akkhar ,fatti sukki
adiyo meri gaachi mukki
sukke hanjhu akkhaN waale
haaDa! akkhar mooloN kaale

renu nayyar

  • Newbie
  • *
  • Posts: 18
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #8 on: November 20, 2014, 05:27:20 AM »
आप के सवालों के जवाब देने की कोशिश  :

एजुकेशन :

पारिवारिक स्थितियों के कारण विवाह से पहले ग्रेजुएशन नहीं कर पाई थी, इस लिए विवाह के बाद, बेटी को जब नर्सरी में ऐडमिट करवाया तो ख़ुद भी ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर से फिर से शुरुआत की । उस के बाद, बच्चे, नौकरी और घर परिवार की और जिम्मेवारियों को निभाते हुए, बहुत मन चाहते हुए भी आगे पढ़ नहीं पाई   ।

(फ़िक्र जी के सवाल का जवाब भी यहीं दे रही हूँ )

मेरी नौकरी का पूरा समय बेशक एजुकेशन फील्ड से जुड़ा रहा पर मैं  हमेशा नॉन-टीचिंग / ऐडमिनिस्ट्रेशन एरिया में ही रही । DAV School Abohar, Apeejay College of Fine Arts Jalandhar, CT Institute of Management & IT Jalandhar में बहुत समय गुज़रा है ।     

और शौक :

संगीत सुनना सब से बड़ा शौक है । हर तरह का संगीत……ग़ज़ल, सूफी, क़व्वाली, पुराने हिंदी गाने, नए भी, मूड हो तो डांस वाले भी  :)

शायरी का शौक :

सुनने / पढ़ने का शौक बचपन से ही साथ रहा है । लेखन में 2008 से आई हूँ ।


लिखने की शुरुआत :

औरों के शेयरों का संकलन अपनी डायरी में तो 17 -18 साल की उम्र से कर रही हूँ । उम्र के 38वें साल तक पता ही नहीं कि लिखने जैसा हुनर मेरे अंदर भी है भी है । ऑरकुट की शायरी कम्यूनिटीज़ का हिस्सा बनी तो नए लेखकों को पढ़ा । यूँ ही कभी-कभार २-४ पंक्तियाँ ख़ुद भी पोस्ट करने लगी तो लोगों को पसंद आना शुरू हो गया । शुरुआत पंजाबी नज़्मों से की । वो नज़्में ३ अलग अलग संग्रहों में भी छपीं । २०१२ में कुछ पंजाबी ग़ज़लें लिखीं तो लगा कि थोड़ी बहुत तकनीकी जानकारी लेनी भी ज़रूरी है । पंजाबी के उस्ताद शायर जसविंदर महरम जी से ये जानकारी प्राप्त की । उर्दू/हिन्दोस्तानी ग़ज़ल अभी ६ महीने पहले ही लिखनी शुरू की है ।

'हिंदवी ' परिवार और आप सब दोस्त इन्हीं उर्दू/हिन्दोस्तानी ग़ज़लों की बदौलत मुझे मिले हैं ।     

ridham

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 206
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #9 on: November 20, 2014, 05:54:21 AM »
mere prashan shayad kuchh hat ke hoN..     pyaar or pooja meiN kya antarhai   

ridham

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 206
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #10 on: November 20, 2014, 06:12:14 AM »
radha,,meera,,,rukmani ,,,sab krishan se pyaar karte the,,,radha ke pyaar mein aisi kya visheshta thi,,,jo vo saravomanya hui

renu nayyar

  • Newbie
  • *
  • Posts: 18
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #11 on: November 20, 2014, 06:18:57 AM »
प्यार हम हर एक से कर सकते हैं, हर इंसान से , हर रिश्ते से, ज़मीन से आसमान के दरम्यान आते ज़र्रे-ज़र्रे से, श्रद्धा भी हम कईयों के लिए रख सकते हैं,पर पूजा बेहद ऊंचा और पवित्र स्थान है,  हम हर किसी को उस स्थान पर नहीं बैठा सकते, और इस में एक शर्त ये भी आती है, कि अगर वो कोई इंसान है तो (देवी/देवताओं की बात छोड़ भी दें तो ) वो इस लायक भी हो ।   


मैंने अपनी ज़िन्दगी के अनुभवों से ये उत्तर दिया है, हो सकता है आप सहमत न भी हों  :)

renu nayyar

  • Newbie
  • *
  • Posts: 18
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #12 on: November 20, 2014, 06:32:27 AM »
राधा कृष्ण का अर्धनारीश्वर रूप थीं, तो उनको वो मान्यता मिलने ही थी ।

कलयुग में पूजा की हद तक जाना बेहद मुश्किल है । 

Rashmi

  • Global Moderator
  • ***
  • Posts: 1893
  • Gender: Female
  • Hum se khafa zamaana to Hum bhi jamaane se khafa
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #13 on: November 20, 2014, 10:55:47 AM »
आप के सवालों के जवाब देने की कोशिश  :

एजुकेशन :

पारिवारिक स्थितियों के कारण विवाह से पहले ग्रेजुएशन नहीं कर पाई थी, इस लिए विवाह के बाद, बेटी को जब नर्सरी में ऐडमिट करवाया तो ख़ुद भी ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर से फिर से शुरुआत की । उस के बाद, बच्चे, नौकरी और घर परिवार की और जिम्मेवारियों को निभाते हुए, बहुत मन चाहते हुए भी आगे पढ़ नहीं पाई   ।

(फ़िक्र जी के सवाल का जवाब भी यहीं दे रही हूँ )

मेरी नौकरी का पूरा समय बेशक एजुकेशन फील्ड से जुड़ा रहा पर मैं  हमेशा नॉन-टीचिंग / ऐडमिनिस्ट्रेशन एरिया में ही रही । DAV School Abohar, Apeejay College of Fine Arts Jalandhar, CT Institute of Management & IT Jalandhar में बहुत समय गुज़रा है ।     

और शौक :

संगीत सुनना सब से बड़ा शौक है । हर तरह का संगीत……ग़ज़ल, सूफी, क़व्वाली, पुराने हिंदी गाने, नए भी, मूड हो तो डांस वाले भी  :)

शायरी का शौक :

सुनने / पढ़ने का शौक बचपन से ही साथ रहा है । लेखन में 2008 से आई हूँ ।


लिखने की शुरुआत :

औरों के शेयरों का संकलन अपनी डायरी में तो 17 -18 साल की उम्र से कर रही हूँ । उम्र के 38वें साल तक पता ही नहीं कि लिखने जैसा हुनर मेरे अंदर भी है भी है । ऑरकुट की शायरी कम्यूनिटीज़ का हिस्सा बनी तो नए लेखकों को पढ़ा । यूँ ही कभी-कभार २-४ पंक्तियाँ ख़ुद भी पोस्ट करने लगी तो लोगों को पसंद आना शुरू हो गया । शुरुआत पंजाबी नज़्मों से की । वो नज़्में ३ अलग अलग संग्रहों में भी छपीं । २०१२ में कुछ पंजाबी ग़ज़लें लिखीं तो लगा कि थोड़ी बहुत तकनीकी जानकारी लेनी भी ज़रूरी है । पंजाबी के उस्ताद शायर जसविंदर महरम जी से ये जानकारी प्राप्त की । उर्दू/हिन्दोस्तानी ग़ज़ल अभी ६ महीने पहले ही लिखनी शुरू की है ।

'हिंदवी ' परिवार और आप सब दोस्त इन्हीं उर्दू/हिन्दोस्तानी ग़ज़लों की बदौलत मुझे मिले हैं ।     
waah renu ji ,,,behad achha lag raha hai aap se jude har pahloo se roobru hona

abhi aapki pesh-e-nazar kuchh or swaal haiN
1.aapka bachpan kahaN guzra
2.aapke parents apni family ke baare bataaiye
3. aapki sab se pahli rachna,,,ho sake to hamaare saath share kijiye
Rashmi Sharma

gooDe akkhar ,fatti sukki
adiyo meri gaachi mukki
sukke hanjhu akkhaN waale
haaDa! akkhar mooloN kaale

ridham

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 206
Re: Guftgoo Renu Nayar ji se
« Reply #14 on: November 20, 2014, 11:21:42 AM »
shukriya ji   aradh narishwar to shiv parwati the jahaN tak mujhe pata hai ji...jara visthaar se samjhaiye