Author Topic: उल्लुओं के कुछ पट्ठों ने मुल्क का मिजाज़ बिगाड़ दिया  (Read 55 times)

0 Members and 1 Guest are viewing this topic.

parveenkomal

  • Newbie
  • *
  • Posts: 1
उल्लुओं के कुछ पट्ठों ने मुल्क का मिजाज़ बिगाड़ दिया

हिन्द में रहते हैं हिन्द का खाते हैं
हिन्द का पहनते हैं हिन्द का लुटाते हैं
जब चाहा भौंक लिए जब चाहा दहाड़ दिया
उल्लुओं के कुछ पट्ठों ने मुल्क का मिजाज़ बिगाड़ दिया

सांस भारत में लेते हैं बिजली भारत की जलाते हैं
बिरयानी दिल्ली की खाते हैं खुजली पाकिस्तान से मिटाते हैं
शैतानों ने इंसानियत को जड़ से उखाड़ दिया
उल्लुओं के कुछ पट्ठों ने मुल्क का मिजाज़ बिगाड़ दिया 

कुछ दाढ़ीयां हिलाते हैं कुछ त्रिशूल चमकाते हैं
आपस में गुर्रा कर एक दुसरे की दुकान चलाते हैं
टी वी चैनलों की टी आर पी दौड़ ने मुल्क को पछाड़ दिया
उल्लुओं के कुछ पट्ठों ने मुल्क का मिजाज़ बिगाड़ दिया

दरया दिल संग हो गए , कोमल दिल कठोर हो गए
किस किस से करें शिकवा, पहरेदार ही चोर हो गए
स्विस बैंकों में काला धन है , निर्धन को उजाड़ दिया
उल्लुओं के कुछ पट्ठों ने मुल्क का मिजाज़ बिगाड़ दिया
 
   

Fikr

  • Newbie
  • *
  • Posts: 44

Rashmi

  • Global Moderator
  • ***
  • Posts: 1893
  • Gender: Female
  • Hum se khafa zamaana to Hum bhi jamaane se khafa
कुछ दाढ़ीयां हिलाते हैं कुछ त्रिशूल चमकाते हैं
आपस में गुर्रा कर एक दुसरे की दुकान चलाते हैं
टी वी चैनलों की टी आर पी दौड़ ने मुल्क को पछाड़ दिया
उल्लुओं के कुछ पट्ठों ने मुल्क का मिजाज़ बिगाड़ दिया
waaaaaaaaaaaah kya tanj hai ,,,,,,,,yahi to ho raha hai .......likhte rahiye aate rahiye big b
Rashmi Sharma

gooDe akkhar ,fatti sukki
adiyo meri gaachi mukki
sukke hanjhu akkhaN waale
haaDa! akkhar mooloN kaale

Aanchal

  • Guest
Bohut khuub..maujudaa haalat aur haqiqat bayaan karta kalaam..
« Last Edit: November 11, 2014, 04:12:12 PM by Aanchal »

vsm1978

  • Newbie
  • *
  • Posts: 48
उल्लुओं के कुछ पट्ठों ने मुल्क का मिजाज़ बिगाड़ दिया  wahhhh , umda