Author Topic: ताप....  (Read 44 times)

0 Members and 1 Guest are viewing this topic.

Venus Sandal

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 345
ताप....
« on: July 02, 2014, 10:59:16 AM »
ताप

कल रात बस युहीं निकल पड़ी घर से बेसुधी में 
जाड़ा है, सोच के तेरी यादों की लोही लपेट ली 
चलते चलते जब थक गयी ..नींद पास आ गयी 
जमीन के नर्म गलीचे पे पैर पसार के मैं सो गयी 
सर्द हवा ने गुदगुद्दी की तो खुद को समेट लिया 
थोड़ी ही देर में पूरा बदन ठँड से ठिठुरने लगा
सोचा अबके तो जम गये और जान गयी समझो,
यहाँ वहाँ हाथ टटोला ..जेब में कुछ था शायद 

आहा !...तुम्हारी तस्वीर ................ 

खिंच के कोहरे की रजाई मुहं ढक लिया मैंने 
देखा तारों के सेकड़ों जुगनू टिमटिमाने लगे
रात काला कम्बल गर्म ऊन का औढाने लगी 
आसमा ने चाँद की बड़ी सी लालटेन टंगाई थी 
हाथ बड़ा के लाट कुछ और तेज़ कर दी मैंने
सरहाने रख ली मैंने तुम्हारी सुलगती तस्वीर 
पुरी रात बदन ताप से तपता रहा सुलगता रहा 

जोया****
 
zoya****

Lau  hi lau sii ..... saik nhi si
Vekh lya main jugnu phd ke
:-Meesa.

Rashmi

  • Global Moderator
  • ***
  • Posts: 1893
  • Gender: Female
  • Hum se khafa zamaana to Hum bhi jamaane se khafa
Re: ताप....
« Reply #1 on: July 02, 2014, 11:28:35 AM »
Ahha.....kaise picturise kar deti ho....jaanti ho ..is garmi meiN maiN bhi Thitur gai tumhare saath...god bless
Rashmi Sharma

gooDe akkhar ,fatti sukki
adiyo meri gaachi mukki
sukke hanjhu akkhaN waale
haaDa! akkhar mooloN kaale